Marketing kya hai in Hindi 2020

0
143


What is Marketing kya hai in Hindi

आप सोच रहे होंगे की आज के ज़माने में What is Marketing kya hai सब को ही पता है | बताना है तो digital markating क्या है वह बताओ| आप यह जान ले की आप को digital markating क्या है इसे जाने के लिए आप को सब से पहले What is markating kya hai यह जानना जरुरी है | जब ही आप पूरी तरह से digital markating के बारे में समझ पाएंगे | 

मार्केटिंग करना एक कला है | जो छोटे व्यापारी से ले कर जितने भी बड़ी-बड़ी कंपनी है | सभी को अपने Product सेल(बिक्री) करने के लिए जरुरी होता है | जितना अच्छी आप को Marketing करनी आयेगी आप उतना ही अच्छा अपने Product को सेल(बिक्री) कर पाओगे| 

वही यह सवाल आता है की आखिर कार यह What is Marketing kya hai| 

Customer की जरुरत को समझना और उसके मुताबिक Product (उत्पाद) या Service (सेवा) बेचना ही मार्केटिंग है| 

पर असल में मार्केटिंग क्या यही है | आप सोच रहे होंगे मार्केटिंग अपने Customer को देखना क्या चाहिए और उसे अपने Product या Service प्रदान (Provide) करना|अगर आप मुझे से कहोगे की यह मार्केटिंग की एक उपरोक्त परिभाषा है | यहाँ मेरा कहना होगा नहीं यह मार्केटिंग की परिभाषा नहीं है| 

मार्केटिंग अपने आप में बहुत ही ज्यादा व्यापक है|मार्केटिंग क्या है यह हर किसे को नहीं पता जिसे पता है वह आज बहुत आगे है |

अब आप का सवाल होगा अगर यह मार्केटिंग नहीं है तो क्या परिभाषा है मार्केटिंग की What is Marketing kya hai|

Marketing kya hai in Hindi 2020
sahityatech.com

Sahitya Gaur (साहित्य गौड़) के अनुसार मार्केटिंग की परिभाषा- अपने Customer (ग्राहक) को अपने द्वारा बनाया गया Product (उत्पाद) या Service (सेवा) उस Customer (ग्राहक) को सफलतापूर्वक (Successfully) बेचना (Sell) जिस को उस  Product या Service की जरुरत नहीं है |

अर्थात : अपने Customer (ग्राहक) को वह Product (उत्पाद) या Service (सेवा) जो आप ने बनाया है | वह उस ग्राहक को भी बेच देना जिस Product (उत्पाद) या Service (सेवा) की उसे जरुरत भी नहीं थी या मांग नहीं थी | वही असली में मार्केटिंग है |

सफलतापूर्वक से यहाँ आशय (meaning)अपने ग्राहक को Product या Service बेचना और वह ग्राहक भी खुशी-खुशी वह Product या Service आप से खरीद ले |

जैसे : हम कोई भी Product खरीदना जाते है पर कोई और Product ले का आ जाये है या किसे और कंपनी का Product ले के आ जाते है | हम सभी के साथ यह अक्सर होता है |

ऐसा इस लिये होता अधिकांश समय हमें यह पता ही नहीं होता की हमे क्या लेना है और हमारी जरुरत क्या है |

इस को हम ऐसे समझ सकते है क्या आप को यह पता है की आप को कौनसा 6G Phone लेना है ? आप कहोगे 6G Phone अभी तक मार्किट में नहीं आये है | फिर कैसे आप को बता दे कौन सा 6G Phone लेना है |

वही आप से कहा जाये कौन सा 5G Phone लेना है | आप कुछ फोनो के नाम आसानी से गिना दोगे | पर आप ने सोचा असा ही 5G Phone लेन गए जो आप ने पसंद किया था | वह shop में जा के पता चले ये new phone जिस में 6G Phone भी चलेगा आप की सोच वही बदल जाएगी | जब की आप को पता तक नहीं है की 6G क्या इस फ़ोन में चलेगा भी या नहीं पर आप एक 6G phone buy कर लोगे | जैसा की 5g फोन को लेकर हो रहा है | हमें पता भी नहीं है की किस फ़ोन में 5g ज्यादा अच्छा चलेगा पर हम उसे खरीद लेते है | इसे ही मार्केटिंग (Marketing) करना कहते है |

वास्तव में Marketing क्या है-(What exactly is marketing)?

मैने अपने अनुभव से अधिकांश यह देखा है की जब भी अधिकांश Marketing शब्द कही आता है तो वहाँ सभी अधिकांश बेचने के किसी न किसी रूप के बारे में सोचते हैं | और उन्हे यह लगता है | एक product को बेचना ही Marketing कहलाता है | 

उन यह मानना स्वाभाविक(Natural) भी है | 1980 तक अपने Product (उत्पाद) या Service (सेवा) का विक्रय करना ही Marketing की की परिभाषा थी | 

साल बीतते गये और Marketing की भी परिभाषा में अंतर आया | पहले जो Marketing की परिभाषा थी अब वह sale की परिभाषा मानी जाती है | 

यह मन भी गलत नहीं है की Marketing Customer को समझ कर क्या उन्हे चाहिए वह Product (उत्पाद) या Service (सेवा) उसे प्रदान करना Marketing ही है | 

अब यहाँ दो पहलु आये पहला Product यानेकी उत्पाद और दूसरा है Service (सेवा) अगर एक normal ग्राहक के नजरिये से देखे तो Product करना मार्किट है | पर Service मार्किट कैसे है? 

इसे जाने के लिए हम  Product और Service की परिभाषा समझते है|

product किसे कहते है?

Marketing kya hai in Hindi 2020
sahityatech.com

Product का हिंदी मतलब उत्पादन, उत्पाद, माल, चीज़, वस्तु, पैदावार, आदि होता है।

Product बिक्री की जाने वाली कोई भी वस्तु हो सकती है, product Service या कोई भी ऐसी वस्तु जो आप न बिकने की उम्मीद से बनाया है, वह सब एक product है | product कोई सेवा हो सकती है |

वह video हो सकती है, कोई audio हो सकती है, कोई विचार भी हो सकता है, blog भी हो सकता है या कोई भी वह जो आप ने बिकने की उम्मीद से बनाया है, वह सब एक product है| 

Product की परिभाषा – देखे तो Product जिसे लोगों और कपंनीयों की आवयश्कता और इच्छाओं को समझते हुआ बाजार में उतारा जाये उसे हम Product कहता है

Marketing में, Product वह है जो आवयश्कता और इच्छाओं को पूरा कर सके फिर चाहे वह इच्छा या आवश्यकता किसी कपंनीयों की हो या फिर किसे भी ग्राहकों की | 

Service किसे कहते है?

Marketing kya hai in Hindi 2020
sahityatech.com

Service की बढ़ती हुयी मांग Service एक विषय बन गया है जिसका अलग से अध्ययन करने की आवश्यकता है। Service से आशय जो बिक्री के लिए पेश किए जाते हैं या ग्राहक को माल की बिक्री के साथ प्रदान किए जाते हैं, और बिक्री से पहले और बाद में जो भी सेवा दे जाती है Service कहलाती है

Service की परिभाषा -जो भी Service बिक्री से पहले या बाद में दी जाती है वह Service कहलाती है | 

Service किसे भी रूप में हो सकती है| Physical रूप में, जानकारी के रूप में, जवाबदारी के रूप में, किसे भी प्रकार की help सब एक Service है | उस मामला में जब किसे बिक्रेता के रूप में दी गयी हो |

Marketing एक वार्तालाप है|

मैने अपने अनुभव से जो Marketing को जाना है यही की जिस पर वार्तालाप (Conversations) साधारण भाषा में कहे तो बातचीत करने में जो जितना निपुड़ है | वह मार्केटिंग बहुत अच्छे से कर सकता है | 
अर्थात- जो बात बनने और घुमाने में निपुड़ होते है उस की बात अधिक तर इंसान सच ही मानते है क्युकी वह बात ही कुछ इस तरह करते है | इसे को Marketing कहते है | 
Fact– क्या आप को यह पता है ज्यादा तर मार्केटिंग की जाती है वह वार्तालाप के द्वारा की जाती है | 
अब आप सोच रहे होंगे आखिर कैसे वार्तालाप के जरिये हम एक बेस्ट Marketing कर सकते है? क्या यह सच है की ज्यादा तर मार्केटिंग वार्तालाप के द्वारा की जाती है?

क्या यह सच है की ज्यादा तर मार्केटिंग वार्तालाप के द्वारा की जाती है?

 शत प्रतिशत (hundred percent) यह बात सच है की ज्यादा तर मार्केटिंग वार्तालाप के द्वारा की जाती है| 

छोटा सा उदाहरण- आप ने अक्सर देखा ही होगा जो शॉप वाला जो आप से अच्छे से बात करते है, या आप को सामान बेचने से ज्यादा जो आप की सुनता (सामान से जुडी समस्या) है | आप उस से सामान लेना ज्यादा पसंद करते हो,न की उस से जो आप से ना ही बात ठीक सा करे और, आप को कोई भी बेकार सामान पकड़ा दे | 

वे ब्रांड जो ग्राहक को जितने में ज्यादा विश्वास रखते हो न की सेवा या सामान बिकने में | 

यदि आप अधिक जानते हैं। मार्केटिंग क्या है, sahtyatech.com पर जाएं| ya click this

More information click this 

Leave a Reply